The Best Relationship Advice In Hindi - माफ़ करें, भूल जाएँ और रहें सुखी!

रिलेशनशिप टिप्स: न रखें बेवजह किसी से द्वेष – माफ़ करें, भूल जाएँ और रहें सुखी!

अच्छे रिश्ते बड़ी मुश्किल से मिलते हैं, और यदि एक बार बन जाएं तो उन्हें दिल से निभाना चाहिए। यदि इसके लिए हमें कुछ त्याग भी करना पड़े तो पीछे नहीं हटना चाहिए। हमसे अक्सर कहा जाता है कि अपने सपनों को साकार करो, पर हम अपने सपनों को दूसरों की कीमत पर असलियत का रूप नहीं दे सकते। ऐसा करने वाले रिश्तों की कद्र नहीं जानते। हमें अपने परिवार और उन लोगों के लिए, जिनकी हम परवाह करते हैं और जो हम पर निर्भर हैं, अपने निजी हितों का त्याग करना चाहिए।

यह तो हुई आपके अच्छे व्यवहार की बात। इसके विपरीत यदि दूसरे आपके साथ बेहतर व्यवहार न करें तो अपनी तरफ से रिश्ते में सुधार लाने की कोशिश करें। फिर भी यदि बात न बने तो उनके उस खराब व्यवहार को भूल जाएं और सामान्य बने रहें। अपने मन को द्वेष रखने वाला कूड़ाघर न बनाएं। इससे अच्छा है कि उस व्यक्ति के गलत आचरण के लिए उसे माफ कर दें। इससे आप भी तनाव से बचे रहेंगे। जब एक व्यक्ति माफ करने से इंकार कर देता है, तो वह उन सभी दरवाजों को बंद कर देता है, जिन्हें खोलने की उसे किसी दिन जरूरत पड़ सकती है। यदि ऐसा नहीं है, तो भी किसी के प्रति लगातार द्वेष का भाव रखना अंततः आपकी ही शारीरिक और मानसिक सेहत को नुकसान पहुंचाता है।

दूसरों पर तो आपका वश नहीं है, पर अपनी तरफ से आप कुछ भी ऐसा न करें, जिससे रिश्तों में तनाव हो। ईमानदार बनें। इसका तात्पर्य यह है कि नकली और झूठा बनने से बचें तथा सच्चा और असली बनने के लिए प्रयत्नशील रहें। भरोसेमंद आदमी के रूप में अपनी पहचान बनाएं, चाहे घर की बात हो या ऑफिस की।

इस संबंध में यह भी ध्यान देने योग्य बात है कि जहां द्वेष रखना अच्छी बात नहीं, वहीं बार-बार चोट खाना भी ठीक नहीं है। किसी ने सही कहा है कि तुम मुझे एक बार धोखा देते हो तो तुम पर लानत है, पर तुम मुझे दोबारा धोखा देते हो तो मुझ पर लानत है। जॉन एफ केनेडी ने एक बार कहा था कि किसी को माफ तो कर दो, लेकिन उसका नाम कभी मत भूलो। उनके इस कथन का मतलब ऐसे व्यक्ति से भविष्य में बदला लेना नहीं है, बल्कि इसका मतलब यह है कि दोबारा ठगा जाना या धोखा खाना अक्लमंदी नहीं है। ऐसे लोगों के प्रति मन में मैल न रखें, पर उनसे दूर रहने की कोशिश ज़रूर करें और मिर्ज़ा ग़ालिब के इस बेहतरीन शेर से अपनी ज़िन्दगी आसान और खुशहाल बनाएं

“कुछ इस तरह मैंने ज़िन्दगी को आसां कर लिया, किसी से माफी माँग ली, किसी को माफ़ कर दिया”

Image Courtesy: Pixabay.

Leave your vote

0 points
Upvote Downvote

Comments

0 comments

Reply

Ad Blocker Detected!

Refresh

Log in

Forgot password?

Forgot password?

Enter your account data and we will send you a link to reset your password.

Your password reset link appears to be invalid or expired.

Log in

Privacy Policy