किसी को सॉरी कैसे बोलें? माफी कैसे मांगें? | 7 Cute Ways to Say Sorry in Hindi

किसी को सॉरी कैसे बोलें – 7 Cutest Ways To Say Sorry to Someone You Love!

  • 7
    Shares

हर व्यक्ति में किसी-न-किसी प्रकार का अहम होता है। यह इंसानी फितरत है। स्वाति की आदत है किसी से भी लड़ लेना, फिर माफी मांगने से मुकर जाना। छोटी-छोटी बातों पर बहुत जल्द गुस्सा होना आैर उसका पलटकर जवाब देना उसकी आदत बन चुकी है। इस कारण उसकी किसी से बनती नहीं है। उसके दोस्तों की संख्या भी कम होती जा रही है। इस भीड़ में अकेली एक स्वाति ही नहीं है। ऐसे आैर भी कई लोग हैं, जो अपने अहम के कारण अनमोल रिश्तों को खो देते हैं। किसी भी बात पर आपसी मतभेद हो जाना आम बात है, लेकिन इसे कभी भी दिल पर लेकर झगड़े का रूप न दें। इस दुनिया में सकारात्मक तथा नकारात्मक दोनों तरह के लोग होते हैं। मतभेद या लड़ाई हर जगह होती है, पर एक छोटा-सा शब्द ‘सॉरी’ बोलकर हर झगड़े को खत्म किया जा सकता है आैर रिश्तों में आई कड़वाहट को दूर भी किया जा सकता है।

Also Read: अगर आपका भी पार्टनर से होता है अक्सर झगड़ा तो आजमाएं ये 6 आसान टिप्स!

‘सॉरी’ वास्तव में बहुत ही प्यारा शब्द है। कोई भी मतभेद हो या लड़ाई-झगड़ा, सॉरी बोलकर सारी कड़वाहट को दूर किया जा सकता है। सॉरी बोलने में हम कई बार काफी असहज महसूस करते हैं। लेकिन सॉरी बोलने से आत्मा पवित्र तो होती ही है, मन की पीड़ा भी दूर हो जाती है। सॉरी बोलने का सही तरीका आपके जीवन में आने वाली कठिनाइयों को दूर कर सकता है…

कैैसे करें पहल?

अगर आपने अपने सबसे अच्छे दोस्त को कुछ ऐसा कह दिया है, जिससे उसकी भावनाओं को ठेस पहुंची है, तो तुरंत उससे माफी मांग लीजिए। जैसे…

  • गलती का एहसास होने पर पहल स्वयं करें।
  • अपने ईगो को दरकिनार करते हुए स्वयं फोन करें। कभी यह न सोचें कि आपका दोस्त ही आपको फोन करेगा।
  • पत्र लिखें। अब आप सोचेंगे कि यह पुराना तरीका हो गया है। नहीं यह आउटडेट नहीं, बल्कि आज भी उतना ही प्रासंगिक है। इसके जरिए आप विस्तारपूर्वक अपनी बात अपने दोस्त के सामने रख पाएंगे।
  • आजकल Email और WhatsApp भी काफी प्रचलन में है। इनका उपयोग भी किया जा सकता है। सॉरी का एसएमएस करें, यह भी एक कारगर तरीका है।
  • अपने दोस्त को मनाने के लिए कार्ड आैर फूल दिया जा सकता है, जिसे देखकर उसका गुस्सा मुस्कान में तब्दील हो जाएगा।

Also Read: न रखें बेवजह किसी से द्वेष – माफ़ करें, भूल जाएँ और रहें सुखी!

  • बात करते समय अपनी गलती को स्वीकारें। कभी रक्षात्मक न बनें। हर तरह के रिस्पांस के लिए तैयार रहें। जरूरी नहीं कि आपके माफी मांगने से सब ठीक हो जाएगा। इसलिए माफी मांगते समय नकारात्मक नतीजों के लिए भी खुद को तैयार रखें।
  • पॉजिटिव सोच रखें। मन में नकारात्मक भावना रखकर माफी नहीं मांगें। अगर बार-बार माफी मांगने के बाद भी आपको सफलता नहीं मिलती है, तो निराश या परेशान न हों। एक-न-एक दिन आपके दोस्त आपकी भावनाओं को जरूर समझेगा। इस तरह से आप इन बातों को अपनाकर किसी का भी दिल जीत सकते हैं।

Image Source: Pixabay.

Reply